breaking news New

कम्पोस्ट खाद का उपयोग कर जमीन की उर्वरा बचाएं : अमरजीत भगत

कम्पोस्ट खाद का उपयोग कर जमीन की उर्वरा बचाएं : अमरजीत भगत
रायपुर| छत्तीसगढ़ के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री अमरजीत भगत ने शनिवार को सीतापुर जनपद अंतर्गत ग्राम पंचयात सोनतराई के आदर्श गोठान का उद्घाटन बारिश की फुहार के बीच किया। इस अवसर पर मैनपाट जनपद उपाध्यक्ष श्री अटल यादव एसडीएम श्री अतुल शेट्टे सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री भगत ने कहा कि गाय-बैल और गोठान का नाता सदियों से रहा है जिसे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली सरकार ने  और मजबूती प्रदान करने के लिये नरवा गरवा घुरवा और बाडी योजना के तहत शुरुआत में चुनिंदा ग्राम पंचायतों में गोठान विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गोठन में कम्पोष्ट खाद तैयार किया जा रहा है जिसका अधिकाधिक उपयोग कर जमीन की उर्वरा को बचाये। आज कल अधिक फसल की पैदावार के लालच में रासायनिक खाद का अंधा धुंध उपयोग किया जा रहा है जिससे मनुष्य एवं जमीन दोनों की सेहत खराब हो रही है। यहां तैयार किए जा रहे कम्पोष्ट खाद का उपयोग करें जिससे मनुष्य एवं जमीन की सेहत सुधरने के साथ ही गोठान से जुडे सदस्यों को आमदनी भी प्राप्त होगी। श्री भगत ने कहा कि गोठान निर्माण से जहाँ ग्राम के पशुओं को दिन में आश्रय, छत, पानी एवं इलाज की सुविधा मिलेगा वही मवेशियों के सड़क में नही घूमने से सड़क दुर्घटनाओं में भी कमी आएगी। उन्होंने कहा कि गोठान का देख रेख करने के लिए गोठान समिति एवं स्व सहायता समूह की महिलाएं जुड़ी हुई है। मंत्री श्री भगत ने कहा कि अब सभी परिवारों को रियायती दर पर अनाज उपलब्ध कराने के लिए आवश्यक तैयारी शुरू कर दी गयी है। सबसे पहले अभी जो राशन कार्ड प्रचलन में है उन सबका नवीनीकरण किया जाएगा। नवीनीकरण से राशन कार्ड का पूरी तरह से सत्यापन होगा जिससे फर्जी राशन कार्ड पकड़ में आएगा। जनपद पंचायत सीतापुर के सीईओ श्री विनय गुप्ता ने बताया कि आदर्श गौठान का निर्माण करीब पॉच एकड़ में 14 लाख 89 हजार रूपये की लागत से किया गया है। गौठान में 301 गौवंशीय एवं भैंसवंसीय पशुओं के लिए चारा, पानी, विश्राम एवं ईलाज का पुख्ता प्रबंध के साथ ही पशुओं के नस्ल सुधार एवं देखभाल की समुचित व्यवस्था की जा रही है। यहां पशुओं में लिए शेड, पानी पीने के लिए पक्के कोटना, स्टोर रूम, बीमार पशुओं हेतु शेड, गाय पालन नाद, कंटूर ट्रेंच,कच्चा कम्पोस्ट पिट, गाय चबुतरा शेड, अजोला टैंक का निर्माण किया जा चुका है। गौठान के संचालन के लिए गौठान प्रबंधन समिति गठित की गई है। समिति में 2 स्व-सहायता समूह के करीब 12 महिलाओं को जोड़़ा गया है। इस दौरान उद्यान विभाग के योजना के तहत खाद्य मंत्री के द्वारा 15 किसानों को सब्जी मिनी किट वितरित किया गया।